ख़ास बातें

  • आपको अपने मोबाइल नंबर से सिर्फ टोल फ्री नंबर 14546 पर कॉल करना है
  • इसके बाद रीवैरिफिकेशन के लिए आईवीआर के निर्देशों का पालन करना है
  • अभी तक एयरटेल, आइडिया और वोडाफोन ने इस आईवीआर सेवा की शुरुआत कर दी है

सरकार ने सिम कार्ड को आधार नंबर से जोड़ने की प्रक्रिया की आखिरी तारीख ज़रूर टाल दी है, लेकिन वैरिफिकेशन तो अब भी ज़ारी है। अच्छी खबर यह है कि मंगलवार को यह प्रक्रिया आसान बना दी गई। अब सभी टेलीकॉम सब्सक्राइबर सिर्फ एक नंबर पर कॉल करके अपने सभी मोबाइल नंबर को आधार से वैरिफाई कर सकते हैं, चाहे नेटवर्क कोई भी हो। यह खबर राहत की सांस लेकर आई है, क्योंकि अब तक ग्राहक अपने मोबाइल नंबर को आधार नंबर से जोड़ने के लिए टेलीकॉम कंपनियों के ऑफलाइन स्टोर में जाने के लिए मजबूर थे। अब ग्राहक आईवीआर सेवा का इस्तेमाल करके अपने घर से ही मोबाइल नंबर को आधार से जोड़ सकते हैं।

अपने मोबाइल फोन को आधार से ऐसे करें लिंक

अगर आप अपने फोन नंबर को आधार से वैरिफाई करना चाहते हैं तो प्रक्रिया बेहद ही आसान है। बस आपके पास आधार नंबर होना चाहिए। आपके पास Airtel, Idea, Jio, Vodafone या किसी अन्य ऑपरेटर में से किसी का भी नंबर हो, आपको अपने मोबाइल नंबर से सिर्फ टोल फ्री नंबर 14546 पर कॉल करना है। इसके बाद रीवैरिफिकेशन के लिए आईवीआर के निर्देशों का पालन करना है।

1. जब आप 14546 पर कॉल करेंगे, आपसे आपकी नागरिकता के बारे में पूछा जाएगा। क्या आप भारतीय हैं या एनआरआई। आप सही विकल्प चुनें।
2. इसके बाद आप 1 दबाकर अपने फोन नंबर को आधार से लिंक करने को मंज़ूरी देंगे।
3. अब आपको अपना आधार नंबर देना होगा और इसकी पुष्टि के लिए 1 दबाना होगा।
4. ऐसा करने के बाद आपके मोबाइल फोन पर वनटाइम पासवर्ड आएगा।
5. अब आपको अपना फोन नंबर डालना होगा।
6. यहां पर आप टेलीकॉम ऑपरेटर को यूआईडीएआई के डेटा बेस से आपका नाम, फोटो और जन्म की तारीख का ब्योरा लेने को मंजूरी देंगे।
7. इसके बाद आईवीआर में आपके नंबर के आखिरी चार आंकड़ों को बताया जाएगा, ताकि यह पुष्टि हो सके कि आपने सही नंबर दिया है।
8. अगर आपका नंबर सही है, तो अब एसएमएस के ज़रिए आए ओटीपी को इस्तेमाल करना है।
9. आधार-मोबाइल नंबर वैरिफिकेशन प्रक्रिया पूरी करने के लिए आपको 1 दबाना होगा।
10. अगर आपके पास कोई और नंबर भी है तो आप उसे भी 2 दबाकर लिंक कर सकते हैं। इसके बाद आईवीआर सिस्टम के निर्देशों का पालन करना होगा। इस दौरान अपने दूसरे मोबाइल फोन को आसपास ही रखें, क्योंकि उस नंबर पर भी ओटीपी आएगा।

आधार और मोबाइल नंबर को लिंक करने की प्रक्रिया के दौरान जो ओटीपी भेजा जाता है, वो 30 मिनट के लिए मान्य होता है। इसका मतलब है कि किसी कारणवश अगर कॉल ड्रॉप भी हो जाता है, तो आप दोबारा कॉल करके लिंक करने की प्रक्रिया के दौरान उस ओटीपी का इस्तेमाल कर सकते हैं। आईवीआर सिस्टम में कहा जा रहा है कि मोबाइल नंबर को आधार से जोड़ने की आखिरी तारीख 6 फरवरी है। वहीं, कॉरपोरेट प्लान के सब्सक्राइबर को अपने नंबर को आधार से लिंक करने की ज़रूरत नहीं है।

अभी तक एयरटेल, आइडिया और वोडाफोन ने इस आईवीआर सेवा की शुरुआत कर दी है। वहीं, जियो नंबर से कॉल करने पर आईवीआर ने हमें ग्राहक सेवा केंद्र अधिकारी से कनेक्ट करने की कोशिश की। लेकिन हर बार कॉल अपने आप ही बंद हो गया।

नवंबर महीने के आखिर में टेलीकॉम कंपनियों ने आधार और मोबाइल नंबर को ऑनलाइन जोड़ने के लिए वेबसाइट लाने की बात कही थी। हालांकि, अभी तक ऐसी कोई वेबसाइट नहीं आई है। डिजिटल इंडिया के ट्विटर अकाउंट द्वारा एक ट्वीट में इस्तेमाल की गई तस्वीर को देखकर यही लगता है कि यूज़र एमआधार ऐप के ज़रिए अपने मोबाइल नंबर को आधार से लिंक कर पाएंगे। यह ऐप अभी सिर्फ एंड्रॉयड प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध है।

Leave a Reply