बिहार समेत देश को शर्मसार कर देने मुजफ्फरपुर शेल्टर होम की घटना की जांच अभी चल रही रही है कि वहां से लगभग 50 किलोमीटर दूर हाजीपुर स्थित बालगृह से भी बच्चियों के यौन शोषण की खबर आ रही है. हाजीपुर स्थित अल्पवाल गृह में रहने वाली बच्चियों का आरोप है कि वरिष्ठ संचालक मनमोहन प्रसाद सिंह अक्सर फ्लोर पर अकेला आता था और उन्हें गलत ढंग से छूता था.

उनका ये भी आरोप है कि मनमोहन प्रसाद सिंह उन्हें उसकी टांगों की मसाज करने के लिए भी मजबूर करता था और ऐसा ना करने पर उनके साथ मारपीट करता था.

अल्पवास गृह में रह रही एक और पीड़ित बच्ची का आरोप है कि हाल ही में मनमोहन ने उसके कपड़े फाड़ने की कोशिश की. अल्पवास गृह की मैनेजर करुणा कुमारी ने आरोपों की पुष्टि करते हुए कहा है कि मनमोहन प्रसाद शेल्टर होम के सभी कर्मचारियों को नीचे जाने को कहता था और खुद अकेला या फिर एक अन्य अधिकारी प्रियंका कुमारी के साथ बच्चियों के पास जाता था.

यहां रह रही बच्चियों का कहना है कि मनमोहन प्रसाद सिंह के खिलाफ पिछले महीने उन्होंने शिकायत भी दर्ज कराई थी जिसपर जिला जज ने मामले की जांच के आदेश दिए थे. जांच रिपोर्ट में आरोप सही पाए जाने पर जिला जज ने मनमोहन प्रसाद को गिरफ्तार करने का आदेश दिया था.

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम के आरोपी ब्रजेश ठाकुर से जेडीयू नेताओं की मिलीभगत को लेकर बीजेपी और जेडीयू पर हमला बोलने वाली कांग्रेस के लिए आने वाले दिनों में जवाब देना मुश्किल हो सकता है क्योंकि निदान नाम का जो एनजीओ अल्पवास गृह को चलाता है उसका एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर अरबिंद सिंह हैं जो ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी यानी (AICC) का सदस्य हैं. अरबिंद सिंह कांग्रेस के महत्वपूर्ण सेल ऑल इंडिया अनआर्गनाइज्ड वर्कर्स कांग्रेस यानी अखिल भारतीय असंगठित मजदूर कांग्रेस के चेयरमैन हैं.

गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पिछले साल नवंबर में AICC का गठन किया था और ये सेल उनके सबसे खास प्रोजेक्ट में से एक है.

जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) पहले ही ब्रजेश ठाकुर और कांग्रेसी सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री अखिलेश सिंह से संबंधों को लेकर कांग्रेस को कटघरे में खड़ा कर रहा है वहीं अब अल्पवास गृह मामला कांग्रेस की किरकिरी का एक और कारण बन सकता है.

इस मामले पर बिहार कांग्रेस अध्यक्ष कौकब कादरी ने कहा कि उनकी पार्टी मुजफ्फरपुर मामले पर लगातार राज्य सरकार को कटघरे में खड़ा कर रही है और अगर ऐसे किसी मामले में उनके किसी नेता का नाम आता है तो वो उस नेता के खिलाफ कार्रवाई करने में बिलकुल गुरेज नहीं करेंगे.

उन्होंने ये भी कहा कि AICC के अधिकारी पर कार्रवाई उनके अधिकार क्षेत्र से बाहर है इसलिए वो इस मामले को पार्टी हाई कमांड के सामने रखेंगे.

Leave a Reply