⛅ *दिनांक 18 दिसम्बर 2017*
⛅ *दिन – सोमवार*
⛅ *विक्रम संवत – 2074*
⛅ *शक संवत -1939*
⛅ *अयन – दक्षिणायण*
⛅ *ऋतु – हेमंत*
⛅ *गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार मास – मार्गशीर्ष*
⛅ *मास – पौष*
⛅ *पक्ष – कृष्ण*
⛅ *तिथि – अमावस्या दोपहर 12:00 तक तत्पश्चात प्रतिपदा*
⛅ *नक्षत्र – मूल*
⛅ *योग – गण्ड 19 दिसम्बर, प्रातः 03:54 तत्पश्चात वृद्धि*
⛅ *राहुकाल – सुबह 08:34 से सुबह 09:54 तक*
⛅ *सूर्योदय – 07:09*
⛅ *सूर्यास्त – 17:58*
⛅ *दिशाशूल – पूर्व दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण – सोमवती अमावस्या सूर्योदय से दोपहर 12:00 तक*
💥 *विशेष – अमावस्या के दिन स्त्री-सहवास तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)*
🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞

🌷 *ग़रीबी – दरिद्रता मिटाने के लिए* 🌷
➡ *18 दिसम्बर 2017 सोमवार को सूर्योदय से दोपहर 12:00 तक सोमवती अमावस्या है ।*
🙏🏻 *सोमवती अमावस्या के दिन 108 बार अगर तुलसी की परिक्रमा करते हो, ॐकार का थोड़ा जप करते हो, सूर्य नारायण को अर्घ्य देते हो; यह सब साथ में करो तो अच्छा है, नहीं तो खाली तुलसी को 108 बार प्रदक्षिणा करने से तुम्हारे घर से दरिद्रता भाग जाएगी |
🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞

🌷 *खेती के काम में ये सावधानी रहे* 🌷
🚜 *ज़मीन है अपनी… खेती काम करते हैं तो अमावस्या के दिन खेती का काम न करें …. न मजदूर से करवाएं | जप करें भगवत गीता का ७ वां अध्याय अमावस्या को पढ़ें …और उस पाठ का पुण्य अपने पितृ को अर्पण करें … सूर्य को अर्घ्य दें… और प्रार्थना करें ” आज जो मैंने पाठ किया …अमावस्या के दिन उसका पुण्य मेरे घर में जो गुजर गए हैं …उनको उसका पुण्य मिल जाये | ” तो उनका आर्शीवाद हमें मिलेगा और घर में सुख-सम्पति बढ़ेगी |
🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞

🌷 *समृद्धि बढ़ाने के लिए* 🌷
🌙 *कर्जा हो गया है तो अमावस्या के दूसरे दिन से पूनम तक रोज रात को चन्द्रमा को अर्घ्य दे, समृद्धि बढेगी ।*
🙏🏻 *दीक्षा मे जो मन्त्र मिला है उसका खूब श्रध्दा से जप करना शुरू करें , जो भी समस्या है हल हो जायेगी ।
🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞

🌷 *अमावस्या के दिन विशेष सावधानी* 🌷
🍛 *अमावस्या के दिन किसी दूसरे का अन्न खाने से १ महीने के साधन-भजन का पुण्य खिलाने वाले व्यक्ति को मिल जाता है l पूनम के दिन भी ऐसा होता है इसलिए अमावस्या या पूनम के दिन मुफ्त का अन्न न खाएं l

।।ॐ श्री हरि।।

Leave a Reply