🌞 ~ *आज का हिन्दू पंचांग* ~ 🌞
⛅ *दिनांक 08 दिसम्बर 2017*
⛅ *दिन – शुक्रवार*
⛅ *विक्रम संवत – 2074*
⛅ *शक संवत -1939*
⛅ *अयन – दक्षिणायण*
⛅ *ऋतु – हेमंत*
⛅ *गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार मास – मार्गशीर्ष*
⛅ *मास – पौष*
⛅ *पक्ष – कृष्ण*
⛅ *तिथि – षष्ठी 09 दिसम्बर प्रातः 02:52 तक तत्पश्चात सप्तमी*
⛅ *नक्षत्र – अश्लेशा शाम 06:28 तक तत्पश्चात मघा*
⛅ *योग – इन्द्र सुबह 09:10 तक तत्पश्चात वैधृति*
⛅ *राहुकाल – सुबह 11:09 से दोपहर 12:30 तक*
⛅ *सूर्योदय – 07:05*
⛅ *सूर्यास्त – 17:56*
⛅ *दिशाशूल – पश्चिम दिशा में*
⛅ *व्रत पर्व विवरण –
💥 *विशेष – षष्ठी को नीम की पत्ती, फल या दातुन मुँह में डालने से नीच योनियों की प्राप्ति होती है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)*
🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞

🌷 *आरोग्य व बुद्धिवर्धक सूर्यस्नान* 🌞
🌞 *स्वास्थ्य अगर कमजोर महसूस होता है तो आप नहा – धो के सुबह उगते सूर्य के सामने बैठ जायें, आँखे न लडायें और बदन थोडा खुला हो | आपकी नाभि पर सूर्य – किरणें पड़ें, उस समय आप लम्बा श्वास लेते हुए मन में ‘मैं सूर्य की आभा ( ओरा ), आरोग्यशक्ति को भीतर भर रहा हूँ |’ – ऐसा चिंतन करें,*
🌞 *फिर श्वास को भीतर ही रोककर ‘ॐ सूर्याय नम: | ॐ आरोग्यप्रदायक नम: | ॐ रबये नम: | ॐ भानवे नम: |…’ आदि मंत्रों का जप करें और फिर धीरे – धीरे श्वास छोड़ें | इस प्रकार प्रतिदिन १०-१२ प्राणायम करने से रोगप्रतिकारक शक्ति, बुद्धिशक्ति बढ़ती है |*
👉🏻 *इसके अलावा एक बीजमंत्र भी है जो ख़ास साधक को दिया जाता है, जिससे बुद्धि में निर्विकारिता और सात्त्विकता के चमत्कारिक लाभ होते हैं |*
🙏🏻 *स्त्रोत – ऋषि प्रसाद, दिसम्बर २०१६ से*
🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞

 

🌷 *वास्तु शास्त्र* 🌷
🏡 *बंद या टूटे पेन*
*घर या ऑफिस में कभी भी टूटे हुए या बंद पेन नहीं रखना चाहिए । ऐसा करने से कैरियर में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है ।*
🌞 ~ *हिन्दू पंचांग* ~ 🌞

🌷 *मनचाही नौकरी के लिए उपाय* 🌷
*वर्तमान समय में बेरोजगारी एक बहुत बड़ी समस्या है। नौकरी न होने के कारण न तो समाज में मान-सम्मान मिलता है और न ही घर-परिवार में। यदि आप भी बेरोजगार हैं और बहुत प्रयत्न करने पर भी रोजगार नहीं मिल रहा है, तो निराश होने की कोई जरुरत नहीं है। कुछ साधारण उपाय करने से आपकी इस समस्या का समाधान हो सकता है। ये उपाय इस प्रकार हैं-*
🌷 *उपाय*
*किसी शनिवार को हनुमानजी के मंदिर में जाकर सवा किलो मोतीचूर के लड्डुओं का भोग लगाएं। घी का दीपक जलाएं और मंदिर में ही बैठकर लाल चंदन की या मूंगा की माला से 108 बार नीचे लिखी चौपाई का जप करें-*
🌷 *चौपाई- कवन सो काज कठिन जग माही।*
*जो नहीं होय तात तुम पाहिं।।*
➡ *इसके बाद 40 दिनों तक रोज अपने घर के मंदिर में इस चौपाई का जप 108 बार करें। शीघ्र ही आपकी समस्या का समाधान हो सकता है।*
🌞 *~ हिन्दू पंचांग ~* 🌞
🙏🍀🌷🌻🌺🌸🌹🍁🙏

Leave a Reply