बिहार में प्रतिभावानों की कमी नही है, बिहार के युवा हर जगह अपना परचम अपने कार्यो की बदौलत लहराते रहे हैं। आज हम बात कर रहे है बिहार के सारण जिले की बिटिया सबिता का। दरसल सबिता का मासाच्यूसेट्स अपील कोर्ट की जज के रूप में मनोनयन किया गया है। अमेरिका के न्यायिक मनोनयन आयोग ने उसका चयन किया है।

सारण जिले के मुकरेड़ा के रहने वाले वकील स्व. राम प्रसाद सिंह की पोती सबिता ने अपनी मेहनत, संघर्ष और निष्ठा के बूते यह मुकाम हासिल किया है। कभी जज के सामने वकील बनकर बहस करने की सोच रखने वाली सबिता के ख्वाब इस कदर उड़ान भरने लगेंगे, उसने सपने में भी नहीं सोचा था।

कई लोगों को पछाड़कर हुआ मनोनयन
न्यायिक मनोनयन आयोग की 21 सदस्यीय कमेटी ने सबिता के नाम का चयन किया। उनके मनोयन की अनुशंसा गवर्नर काउंसिल को की गयी।

अपनी अनुशंसा में भी लेफ्टिनेंट कार्यन पोलिटो ने सारण की बिटिया को कॉमनवेल्थ कोर्ट के लिए व्यापक रूप से अनुभवी और निष्ठावान बताया। सारण से सात समंदर पार अपने पूरे परिवार के साथ अमेरिका पहुंचे थे सबिता के बड़े भाई।

गवर्नर चार्ली बेकर ने जब सबिता को जज के रूप में 5 जुलाई को शपथ दिलायी तो बड़े भाई ब्रजेश सिंह का सीना गर्व से चौड़ा हो गया। आंखें छलछला आयीं। जीवन में काफी संघर्षो के बाद भारतीय मूल की इस बिटिया को मुकाम हासिल हुआ।

बोस्टन और पेंसिलवानिया यूनिवर्सिटी की पूर्ववर्ती छात्र रहीं सबिता ने स्कूल ऑफ लॉ से 1990 में जेडी की डिग्री हासिल की। हावर्ड और नार्थ इस्टर्न यूनिवर्सिटी में उन्होंने अध्यापन का कार्य किया। बिंघम के मैक कचन प्राइवेट लॉ में सात साल तक नौकरी के बाद सबिता बोस्टन के अटॉर्नी ऑफिस में क्रिमिनल सिविल राइट्स की विशेष वकील बनीं। बोस्टन बार एसोसिएशन और साउथ एशियन बार एसोसिएशन ऑफ नॉर्थ अमेरिका की अध्यक्ष रहीं।

Leave a Reply