बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने शराबबंदी को लेकर बड़ा बयान दिया है. पटना में आयोजित नशामुक्ति कार्यक्रम में सीएम ने कहा कि मैं जब तक जिन्दा हूं बिहार में शराबबंदी जारी रहेगी.

नीतीश ने कहा कि समाज सेवा का काम करने पर लोग मजाक भी उड़ा रहे हैं लेकिन हम रुकने वाले नहीं हैं. उन्होंने कहा कि बिहार में मजबूती के साथ शराबबन्दी लागू किया और इसके प्रभाव को आज सब जानते हैं. राज्य में घरेलू हिंसा में कमी आयी है और शराबबन्दी के प्रभाव को देखकर लोगों की आंखें खुल जाएगी. नीतीश ने कहा कि पहले मानसिक हिंसा का प्रतिशत 79 था जो अब मात्र 11 प्रतिशत रह गया है.

सीएम ने माना कि कुछ जगहों पर अभी भी शराब से मौत हुई है और कुछ लोग शराबबन्दी को फेल बताने लगे हैं लेकिन मैं ऐसे लोगों को बताना चाहूंगा कि ये कानून लागू है और रहेगा. सीएम ने शराबबन्दी के लिए तर्क देते हुए कहा कि अपराध के लिए कानून है फिर भी अपराध हो जाता है इससे अपराध के कानून को ख़त्म नहीं कर सकते.

नीतीश ने कहा कि कुछ लोग आज भी शराब का अवैध धंधा कर रहे हैं क्योंकि इस धंधे में मुनाफा बहुत है. आज दूसरे राज्य से शराब लाने के लिए लोग कुछ भी कर रहे हैं लेकिन इस पर विभाग सख्त है. नीतीश ने कहा कि शराब से हुई मौत के मामलों को हमें छिपाने की जरूरत नहीं है बल्कि उजागर करने की जरुरत है और जन जागरण करने की जरुरत है.

नीतीश ने कहा कि दहेज़ प्रथा का लोगो से जबर्दस्त रिस्पॉन्स मिल रहा है. शराबबंदी के बाद लोग कहने लगे कि अब लोग बिहार नहीं आएंगे लेकिन आज बिहार में पर्यटको की संख्या बढ़ गई है. लोग बिहार देखने आते है शराब पीने नहीं आते.

( Source – Hindi News 18 )

Leave a Reply