राजद के बिहार बंद के दौरान पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव, पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव, वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सैकड़ों समर्थकों के साथ सड़क पर उतरे थे. राजधानी पटना के डाकबंगला चौराहा पर प्रदर्शन करते वक़्त सभी राजद नेताओं को अरेस्ट कर लिया गया था. अरेस्टिंग के बाद सभी को बगल के कोतवाली थाने ले जाया गया. यहां तेजस्वी और तेजप्रताप को थानेदार के काबिन में बैठाया गया था.

इसी बीच राजद के कुछ कार्यकर्ता तेजस्वी-तेजप्रताप के खाने के लिए खाजा लेकर आये थे. लेकिन थानेदार के केबिन के बाहर ही खाजे की टोकरियों को लूट लिया गया. जी हां, और यह लूट खुद राजद कार्यकर्ताओं के द्वारा ही की गई. दरअसल, सुबह से ही धरना-प्रदर्शन में लगे राजद कार्यकर्ता भूखे थे. इसलिए ही खाजा की टोकरियां देखते ही सभी उसपर टूट पड़े.

बता दें कि राजद नेता और पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव बिहार बंद का समर्थन करने सड़क पर उतरे थे. तेज प्रताप खुद ट्रैक्टर चला रहे थे. इस दौरान उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार की नीतियां बिहार की जनता के हित में नहीं है. इसके साथ ही तेज प्रताप ने सीएम नीतीश के इस्तीफे की मांग उठाई.

Leave a Reply