अपराधी ने महिला पुलिस कर्मी से अपना प्रोफ़ाइल फोटो भेजने को कहा तो महिला पुलिस कर्मी ने अपने फोन में दक्षिण की प्रमुख खुबसूरत अभिनेत्री नयनतारा की तस्वीर प्रोफ़ाइल में लगा दी.

एक मोबाइल चोरी के अनुसंधान में अपराधी तक पहुंचने के लिए एक महिला पुलिस कर्मी (सहायक सब इन्स्पेक्टर) का नाटकीय अंदाज़ चर्चा का विषय बना हुआ है, महिला पुलिस कर्मी ने सबसे पहले अपराधी तक पहुंचने के लिए अपराधी के मोबाइल पर फोन कर उससे पहले जान पहचान बढ़ाई, फिर दोस्ती की और तीन चार दिनों के बातचीत में ही बन गयी उसकी गर्लफ्रेंड, विश्वास में लेने के लिए महिला पुलिस कर्मी ने अपराधी से खूब मीठी – मीठी बातें भी की. अपराधी ने महिला पुलिस कर्मी से अपना प्रोफ़ाइल फोटो भेजने को कहा तो महिला पुलिस कर्मी ने अपने फोन में दक्षिण की प्रमुख खुबसूरत अभिनेत्री नयनतारा की तस्वीर प्रोफ़ाइल में लगा दी. अपराधी फोटो देख महिला पुलिस के झांसे में आ गया तब पुलिस ने जाल बिछाया और सादे लिबास में पुलिस कर्मी एक जगह तैनात किया. फिर महिला पुलिस ने कथित प्रेमी से मिलने की इच्छा जताई तो प्रेमी दौड़ा भागा अपने प्रेमिका से मिलने पहुंच गया.

तभी मौके पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया और वह सलाखों के पीछे चला गया, अब महिला पुलिस की इस कारनामे को उनके अधिकारी भी खूब प्रशंसा कर रहे है. दरअसल पूरा मामला दरभंगा के नगर थाने की है जहां एक मोबाइल चोरी की शिकायत मिली प्राथमिकी दर्ज़ कर मामले की तफ्तीश की जिम्मेवारी थाने के ही महिला सहायक सब इन्स्पेक्टर मधुबाला देवी को मिला. मधुबाला जब कभी मोबाइल को ट्रैस करती वह कभी यहाँ तो कभी वहां, मतलब एक लोकेशन पर कभी भी ज्यादा देर मोबाइल एक लोकेशन पर नहीं रहता था. जिस कारण मोबाइल चोर तक पहुंचना संभव नहीं दिखा रहा था.

फिर पुलिस ने अपने सूत्रों से मोबाइल उपयोग करने वाले का हसनैन का नंबर ऊपर किया, फिर महिला पुलिस कर्मी ने उस नंबर पर बात कर अपराधी से पहले जान पहचान बढ़ाया, फिर दोनों में गहरी दोस्ती का नाटक किया. तक़रीबन चार पांच दिन तक मीठी मीठी बात कर महिला पुलिस कर्मी उसकी गर्लफ्रेंड भी बन गयी और फिर विश्वास के लिए वह न सिर्फ उससे मीठी मीठी बाते करती, बल्कि उससे मिलने की इच्छा भी जताई, झांसे में आया अपराधी हसनैन मौके की नज़ाकत को ना देखते हुए आनन् – फानन में अपनी कथित प्रेमिका से मिलने भी दरभंगा टावर चला आया. जहां पहले से ही पुलिस सादे लिबास में मौजूद थी.

हसनैन अपने द्वारा बताये गए नियत समय पर पहुंचा और महिला से मिलकर उसे कही दूसरी जगह बैठ कर बाते करने और साथ में मिठाई खिलाने खाने का ऑफर भी दिया. लेकिन महिला उसे अपने बातो में उलझाए रखी और मौका मिलते ही पहले से तैनात पुलिस के जवान उसे गिरफ्तार कर लिया और साथ में चोरी के मोबाइल भी हसनैन के पास से बरामद कर ली.

पुलिस अब हसनैन के आपराधिक इतिहास खंघालने में लगी है. लेकिन पकडे गए हसनैन की बात माने तो वह पेशे से ड्राइवर है और बाहर रह कर अपनी रोज़ी रोटी कमाता और खाता है उसने यह मोबाई चोरी नहीं की बल्कि किसी दूसरे से यह चोरी के मोबाइल 4500 में खरीदी है. इधर दरभंगा के Dsp दिलनवाज़ अहमद ने मीडिया से बात करते हुए पूरी घटना की पुष्टि की साथ ही जल्द ही पुरे मोबाइल चोर के गैंग को डिडक्ट कर सलाखों के पीछे भेजने की बात कही, वही Dsp ने महिला पुलिस की काफी तारीफ़ की. मामला भले ही छोटा हो पर महिला पुलिस का यह अंदाज़ आज सबको अपना दीवाना बना दिया साथ ही यह भी जता दिया की अगर पुलिस चाह ले तो मामला छोटा हो या बड़ा अपराधी उनके चुंगल से बाहर कभी न होंगे, शायद तभी तो कहा गया है कानून के हाथ काफी लम्बे होते हैं.

Leave a Reply