राज्य सरकार द्वारा पारदर्शिता लाने हेतु विभिन्न योजनाओं को ऑनलाइन शुरू करने से जहां एक तरफ लोगों को सुविधा हो रही है तो कई जगह भारी परेशानियों का सामना भी करना पड़ रहा है। अभी हाल में बालू से संबंधित नई नीति आने के बाद लोग काफी परेशान थे और बालू का मिलना दुबर हो गया है। तभी बिहार सरकार ने एक दूसरा फरमान जारी कर दिया है। दूसरे फरमान के अनुसार अब घर बनाने के लिए ईंटें  मिलने में भी परेशानी होने की संभावना है।

राज्य में अगले वर्ष 15 जनवरी से ईंटों का कारोबार भी ई-चालान के माध्यम से होगा। बिना ई-चालान के ईंटों की बिक्री नहीं की जा सकती है। सूत्रों के अनुसार खान एवं भूतत्व विभाग ने ई-चालान की अनिवार्यता के संबंध में सूचना सभी जिलों के ईंट-भट्ठे संचालकों को भेज दी है। ईंट कारोबार से जुड़े लोगों को ई-चालान संचालन की जानकारी भी दी जाएगी।

इसके लिए 3 व 4 जनवरी को श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया है। कार्यशाला में ई-चालान के से जुड़ी चीजों के बारे में ईंट-भट्ठे संचालकों को जानकारी दी जाएगी।

Leave a Reply