पीएम मोदी के मेकिंग इण्डिया कार्यक्रम के तहत फ्रांस की रेल इंजन निर्माता कम्पनी एल्सटॉम के सहयोग से मधेपुरा विद्युत रेल इंजन कारखाना को लगाया गया था . जिसके तहत अब मधेपुरा रेल कारखाने में इलेक्ट्रिक इंजन बनाने का काम अंतिम चरण में है। तय कार्यक्रम के मुताबिक 28 फरवरी 2018 को फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यहां बने इंजन को हरी झंडी दिखा सकते हैं। फ्रांस की एल्सटॉम कंपनी प्रधानमंत्री मोदी की मेक इन इंडिया स्कीम के तहत मधेपुरा की रेल फैक्ट्री में 12 हजार हॉर्स पावर का इलेक्ट्रिक इंजन बना रही है।

मधेपुरा रेल इंजन कारखाना में देश का सबसे शक्तिशाली विद्युत रेल इंजन तैयार होगा. इसका उपयोग मालगाड़ी में होगा जिससे मालगाड़ी की गति वर्तमान गति से दोगुनी हो जाएगी. अब तक 12 हजार हॉर्स पॉवर का इलेक्ट्रिक इंजन का निर्माण भारत के किसी भी रेल कारखाने में नहीं हुआ है। इस फैक्ट्री में 800 इंजन का निर्माण किया जाएगा। प्रारंभ में कंपनी यहां इंजन एसेम्बल करेगी। इसके बाद वर्ष 2020-21 तक 95 इंजन का निर्माण होगा, उसके बाद प्रतिवर्ष 100 इंजन का निर्माण किया जाएगा। एक इंजन की कीमत करीब 30 करोड़ रुपए होने की संभावना है.

यह फैक्ट्री 250 एकड़ में फैली है, इसमें प्रत्यक्ष रूप से करीब 5 हजार लोगों को नौकरी मिलेगी । जबकि अप्रत्यक्ष रूप से हजारों लोगों को रोजगार मिलने की संभावना है।

Leave a Reply