बिहार में कई नेताओं की सुरक्षा हटाए जाने को लेकर चल रहे विवाद पर सीएम नीतीश कुमार ने बड़ा बयान दिया है. बिहार में सुरक्षा पर सियासत के बीच नीतीश कुमार का यह बयान काफी अहम है. लालू प्रसाद, शरद यादव और जीतमराम मांझी की सुरक्षा में कटौती को लेकर चल रहे विवाद से बिहार की राजनीति में बयानों के तीखे तीर चलाए जा रहे हैं. इस मामले में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने तंज कसते हुए कहा है कि सुरक्षा का जाया इस्तेमाल करने वालों को परेशानी तो होगी ही.

सीएम नीतीश ने ट्वीट में लिखा कि राज्य सरकार द्वारा ‘Z’ Plus और एसएसजी की मिली हुई सुरक्षा के बावजूद केंद्र सरकार से NSG और CRPF के सैकड़ों सुरक्षा कर्मियों की उपलब्धता के जरिए लोगों पर रौब गांठने की मानसिकता, साहसी व्यक्तित्व का परिचायक है!

नीतीश कुमार ने अपने ट्विटर एकाउंट पर यह ट्वीट किया है:

बता दें कि लालू प्रसाद की सुरक्षा में कटौती किए जाने की बात पर सोमवार को उनके बड़े बेटे और पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप ने पीएम मोदी के खिलाफ अभद्र टिप्पणी की थी, जिसके बाद राजनीतिक महकमे में खूब बयानबाजी हुई. तेजप्रताप ने कहा था कि वो पीएम मोदी का खाल उखड़वा देंगे. जिसके बाद से बिहार की सियासत में किचकिच मची हुई है.

उधर बीजेपी नेताओं ने जहां लालू प्रसाद को अपने बेटे का इलाज मनोचिकित्सक से कराने की सलाह दे डाली तो वहीं दिल्ली के एक पुलिस स्टेशन में तेजप्रताप के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज किया गया है. तेजप्रताप के पीएम के लिए दिए गए इस आपत्तिजनक बयान पर प्रमुख राजनेताओं ने घोर आपत्ति की है. इससे पहले भी तेजप्रताप यादव ने बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी को भी धमकी दी थी.

Leave a Reply