बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव को हाईकोर्ट से बड़ा झटका लगा है. रांची हाईकोर्ट ने उनकी औपबंधिक जमानत याचिका को खारिज कर दिया है।

स्वास्थ्य के आधार पर प्रोविजनल बेल की अवधि बढ़ाने के लिए लालू की ओर से अपील की गई थी जिसपर सुप्रीम कोर्ट के वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने लालू की पैरवी की लेकिन कोर्ट ने लालू के आग्रह को खारिज कर दिया ।दोनों पक्षों की तरफ से बहस हुई और लंबी चली बहस के बाद कोर्ट ने यह फैसला दिया। अब लालू यादव को तीस अगस्त तक सरेंडर करना होगा।

इससे पहले 17 अगस्त को हुई सुनवाई में हाईकोर्ट ने लालू प्रसाद की औपबंधिक जमानत की अवधि को 27 अगस्त तक के लिए बढ़ा दिया था. सुनवाई को दौरान आरजेडी सुप्रीमो के अधिवक्ता ने कोर्ट को जानकारी दी कि वे पूर्णतया स्वस्थ नहीं हुए हैं, इसलिए उनकी औपबंधिक जमानत की अवधि को 3 माह के लिए बढ़ा दिया जाए. लेकिन कोर्ट ने 20 से 27 अगस्त तक मात्र सात दिन के लिए अवधि बढ़ाई.

Leave a Reply