गुजरात चुनाव की सरगर्मियों के बीच राम मंदिर का मुद्दा एक बार फिर उठ रहा है। आज पांच दिसंबर से सुप्रीम कोर्ट रामजन्म भूमि बाबरी मस्जिद विवाद पर रोजाना सुनवाई करने जा रहा है, वहीं 06 दिसंबर को बड़े पैमाने पर पूरे देश में शौर्य और गौरव दिवस मनाने की तैयारी है। विश्व हिंदू परिषद के संयुक्त महामंत्री डॉ. सुरेंद्र कुमार जैन के अनुसार देश भर में 2000 से अधिक स्थानों पर शौर्य दिवस (गौरव दिवस) मनाने की योजना है।
डॉ. जैन के अनुसार 25 साल पहले छह दिसंबर को अयोध्या में विवादित ढांचा जमींदोज हुआ था। यह हमारे लिए शौर्य, सम्मान और गौरव का क्षण है। इस घटना के 25 साल पूरे हो रहे हैं। इस दिन को विश्व हिंदू परिषद का संगठन बजरंग दल शौर्य दिवस के रूप में मनाता है। हम इसका जोरदार आयोजन करने की तैयारी कर रहे हैं।

मुसलमानों से अपील

डॉ. जैन ने कहा कि छह दिसंबर को मुसलमान भाई काला दिवस के रूप में मनाते हैं। विश्वहिंदू परिषद उनसे अपील करता है कि वह ऐसा करके बाबर और औरंगजेब जैसे लोगों को अपना आदर्श न बनाएं। वह धर्म निरपेक्षता का पाखंड करने वाले राजनीतिक दलों, लोगों के बहकावे में न आए।
वह भी शौर्य दिवस मनाने में हिस्सा लें। बाबर एक विदेशी हमलावर और लुटेरा था। मंदिर तोड़कर बनाई गई मस्जिद हमारे अपमान की निशानी थी। मुसलमान इसे समझे और एपीजे अब्दुल कलाम, रसखान को आदर्श मानकर समाज में सही चेतना का संचार करे।

बड़े कार्यक्रम आयोजन की तैयारी

डॉ. जैन ने बताया कि बजरंग दल हर साल शौर्य दिवस को मनाता था। लेकिन इसे 500 से 900 स्थानों पर ही मनाया जाता है। इस बार बड़े पैमाने पर इसे मनाने की योजना है। पूरे देश में हर जिले में कम से कम दो-तीन स्थान पर मनाया जाएगा। कुछ बड़े कार्यक्रम भी आयोजित किए जाएंगे।

इन कार्यक्रमों में 30-40 हजार लोगों को भाग लेने का आह्वान किया जाएगा। ताकि पूरे देश में सच्चे राष्ट्रवाद की भावना को आगे बढ़ाने में मदद मिल सके

Leave a Reply